Guam Crisis / issue/ in hindi ( Why North koria warned USA for nuclear war )

Share:
Guam Crisis / issue/ Why North koria warned USA for nuclear war  : दोस्तों पिछले कुछ दिनों से Guam Crisis/ issue बहुत चर्चा में है। आज हम जाने गे के Guam Crisis क्या है , North Koriea और USA के वीच तनाव क्यों बढ़ रहा है , North Koriea ने Nuclear Attack करने की धमकी क्यों दी है और अगर दोनों देशों में जंग होती है तो क्या इस से 3rd world war हो सकती है ? इस के साथ ही हम जाने गे के इस problam का seloution क्या हो सकता है।
What is Guam: सब से पहले हम जानते हैं के Guam क्या है  दोस्तों गुआम नार्थ कोरिया और अमेरिका के वीच का एक टापू है जिस की आबादी लगभग 1.5 लाख के करीब है , जिस की लंबाई 49 किलोमीटर और चौड़ाई 19 किलोमीटर है। गुआम की नार्थ कोरिया से दूरी ( Distence Guam from North Koriea ) 2131 मील  है , यह टापू अमेरिका का हिस्सा है , इस पर रहने वाले लोग अमेरिका के विसनीक माने जाते हैं । Guam की राजधानी का नाम Hughana है। इस को अमेरिका ने 1898 में स्पेन से जीता था। 

What is Guam Crisis : अब हम जानते हैं के Guam Crisis क्या है असल में दोस्तों नार्थ कोरिया ने
intercontinental ballistic missile तयार कर ली है इस बात का पता अमेरिका की खुफिया विभाग को चल गया था , पहले तो सब को लगा के चलो intercontinental ballistic missile ही है इतना नुकसान नहीं करेगी मगर बाद में पता चला नार्थ कोरिया उस पर एक nuclear head का इस्तेमाल कर रहा है , उस के कुछ दिन बाद मीडिया ने जब अमेरिका के प्रेजिडेंट डोनाल्ड ट्रम्प से इस के बारे में पूछा तो उन का कहना था के " Face fire and fury like the world has never seen " इस का मतलब है के नार्थ कोरिया को ऐसी तबाही का सामना करना पड़ेगा जो आज तक दुनिया में किसी ने नहीं किया। जब यह बात मीडिया में आई तो इस पर नार्थ कोरिया के जवाब दिया के हम आप की Territory Guam पर हमारी मिजाइले दाग देंगे ।
हम आप को बता दे के नार्थ कोरिया ने Guam को टारगेट इस लिए किया है क्यों की गुआम में अमेरिका की आर्मी और एयरफोर्स के 2 बेस हैं और इस के साथ ही काफी मात्रा में गोल बारूद वी वहां पे अमेरिका की तरफ से रखा गया है। इस लिए नार्थ कोरिया ने कहा है के हम वह जगह ही तबाह कर देंगे यहाँ से हमारी तरफ fire and fury आएगी। 

Read this History of Kohinoor Diamond
World War 3 के बारे म कुछ तथ्य:
दोस्तों हम आप को बता दे के गुआम में अमेरिका का Andersen airforce base है जहाँ पर अमेरिका के
B2 Stealth Bomber हैं जो के किसी वी राडार की रेंज में आए बिना ही किसी वी देश पर बम गिरा सकते हैं । जिस से लगता है के नार्थ कोरिया को ऐसा करने से पहले अमेरिका रोक लगा।
दूसरा कारण यह है के नार्थ कोरिया ने खुद कहा है के जो intercontinental ballistic missiles हैं वोह अपने टारगेट से 8,10 किलोमीटर इधर उधर गिर सकती हैं मगर गुआम की क्षेत्रफल के हिसाब से इन मिजाइलो को गुआम पर गिराना बहुत मुश्किल है।
तीसरा अमेरिका ने साउथ कोरिया और गुआम में स्पेशल THAAD लगा रखे हैं जो intercontinental ballistic missile को अपने आप ख़तम कर देते हैं ।
इन कारणों से लगता है के नार्थ कोरिया के लिए गुआम को टारगेट करना बहुत मुश्किल है।  अब हम एक नज़र नार्थ कोरिया पर डालते हैं ।
अगर नार्थ कोरिया गुआम से कुछ दूरी पे कोई मिजाइल दागता है जनि के समुन्दर में कोई बड़ा बोम्ब जा मिज़ाइल जिस से समन्दर में सुनामी आ जाए जिस से गुआम में तबाही हो । मतलब  नार्थ कोरिया सीधा अमेरिका की ज़मीन पे हमला नहीं करता और अमेरिका नार्थ कोरिया पे मिलीट्री अटैक करता है तो तो रशिया और चाइना इस में डायरेक्ट इन्वॉल्व हो जाएंगे।
दूसरा अगर अमेरिका नार्थ कोरिया पर हमला करता है और वहां की सरकार टूट जाती है तो बहुत ज्यादा मात्रा में लोग नार्थ कोरिया से साउथ कोरिया में आएंगे जिस से साउथ कोरिया की इकॉनमी को खतरा है ।
Guam crisis seloution :
दोस्तों इस का पहला seloution यह है के जैसे ईरान
के नुक्लेअर प्रोग्राम में suxnet नाम का वायरस अमेरिका ने डाल दिया जिस से उस प्रोग्राम का पांचवा हिस्सा डिलीट हो गया था जिस से वह काफी साल पीछे चला गया , यहाँ व् suxnet का इस्तेमाल कीया जाए।
दूसरा नार्थ कोरिया और साउथ कोरिया आपस में बातचीत करे और अमेरिका अपने THAAD सिस्टम को साउथ कोरिया से हटा ले , क्यों की नार्थ कोरिया को इस से बहुत ज्यादा अप्पति थी ।
तो दोस्तों यह ता Guam का पूरा टॉपिक आने वाले exam में इस से कुछ पूछा जा सकता है, अगर आप को हमारा आर्टिकल अच्छा लगा तो शेयर जरूर करें।


No comments