Wednesday, 8 November 2017

History of Hero Honda bike company in hindi

History of Hero cycles:
दोस्तों आज मैं बात करने जा रहा हु दुनिया की सब से बड़ी 2 वीलर कंपनी हीरो मोटर्स की । जिस की शुरुआत ब्रिज मोहन लाल ने अपने 3 भाईयो के साथ की थी ।
उस वक़्त उन का सुपना था कोई ऐसी सवारी बनाना जो गरीबो के लिए ट्रांसपोर्ट का काम करे। मगर इस काम को करने के लिए उन के पास इतनी पूंजी भी नहीं थी , जिस लिए उनोह ने इस काम की शुरुआत साइकिल के पार्ट्स बनाने से की और उस को इतनी बड़ी कंपनी कैसे बनाई आइए जानते हैं।
दोस्तों कहानी की शुरुआत होती है 1 जुलाई 1923 को जब भारत और पाकिस्तान का बंटवारा नहीं हुआ था तब ब्रिज मोहन लाल जी का जन्म कमालिया नाम के स्थान पर हुआ जो के अब पाकिस्तान में है। देश के बंटवारे के बाद बृजमोहन लाल जी अपने 3 भाईयो के साथ Amirtsar आए , जहाँ उनोह ने साइकिल के पुर्जे बनाने का काम शुरु किया। आपने कारोबार अच्छा चलने के बाद उनोह ने लुध्याना में Hero Cycles की स्थापना की , जहाँ वह साइकिल का हेंडल , चैन, और कुछ और पार्ट बनाते थे ।

1956 में पंजाब सरकार ने साइकिल कंपनीयो के लिए टेंडर निकाले जिस में हीरो साइकल्स को साइकिल बनाने के लिए सरकार दुवारा लाइसेंस मिल गया। जिस में उनोह ने सरकार से 6 लाख रुपए लेकर साइकिल का कारोबार शुरू किया। थोड़े ही समय में हीरो साइकिल ने अपनी प्रोडक्शन 7500 साइकिल पर साल कर ली। 1975 में हीरो साइकिल बनाने वाली सब से बड़ी कंपनी बन गई ।
अब हीरो ने अपने साइकिल दूसरे देशों में एक्सपोर्ट करने शुरू कर दिए जिस के चलते 1985 में हीरो दुनिया की साइकिल बनाने वाली सब से बड़ी कंपनी बन गई । आज हीरो 19000 साइकिल एक दिन में बनाती है।

Read this History of Royal Enfield

History of Hero Honda :
साइकिल के बाद हीरो ने बाइक बनाने के लिए आगे आई और 1984 में उनोह ने जपान की कंपनी Honda के साथ करार किया और बाइक बनाने के लिए दोनों कंपनीयो ने मिल के हरयाणा के धारूहेड़ा में प्लांट लगाया ।
1950 को Hero Honda की पहली बाइक CD100 लांच की गई , जिस को लोगो ने बहुत ज्यादा पसंद किया और 1985 से 2002 के वीच कंपनी ने 86 लाख बाइक्स की सेल की। 2002 में कंपनी हर रोज 16000 बाइक रोज बनाती थी ।

अगस्त 2011 में हीरो हौंडा ने अलग होने का फैसला किया । मगर हीरो हौंडा के बाइक भारत में 2013 तक बिक़े । दोनों के अलग होने के बाद हीरो ने अपना नाम Hero MotoCorp कर लिया।
आज हीरो दुनिया की सब से बड़ी बाइक बनाने वाली कंपनी है भारत में 46 प्रतिशत लोग इसी कंपनी का बाइक use करते हैं ।

read this History of apple mobiles

दोस्तों कामज़ाबी की यह मिसाल कायम करने के बाद 1 नवम्बर 2015 को ब्रिज मोहन लाल जी का दिहान्त हो गया। मगर अपनी ज़िंदगी से उनोह ने हमे बहुत कुछ सीखा दिया है।

No comments:

Post a Comment