Gangster Vicky Gounder life story (खिलाडी से गेंगस्टर बनने का सफ़र ) - Education Hindi - Knowledge in Hindi

Latest

You Can Find Here Biographies, Interesting Fact Technology and Inspirational story in Hindi Language.

Friday, 26 January 2018

Gangster Vicky Gounder life story (खिलाडी से गेंगस्टर बनने का सफ़र )


Biography of Gangster Vicky Gounder life story , histroy 
दोस्तों विक्की गौंडर का पूरा नाम Harjinder Singh Bhuller है , कभी ऐसा वी समय था के Vicky Gounder पर उस के परिवार वाले और गांव वाले गर्व किया करते थे , मगर थोड़े ही समय बाद विक्की अपराध की दुनिया में परवेश कर गिया और जो लोग कभी उस पर गर्व महसूस करते थे वोह लोग उस से दूर होने लगे , आज हम गैंगस्टर विकी गौंडर की जिन्दगी के बारे में जाने गे के कैसे वोह अपराध की दुनिया में आया और उस पर कौन कौन से केस दर्ज थे.


विकी गौंडर मुक्तसर जिले के गांव समारा का रहने वाला था , जो के पंजाब के पूर्व मुख मंत्री परकाश सिंह बादल के विधानसभा हलके लम्बी में आता है ,विकी गौंडर डिस्कस थ्रो का बहुत ही अच्छा खिलाडी था ,मिडल स्कूल में स्टेट लेवल पर मैडल जीतने के बाद उस ने आगे की पढाई और ट्रेनिंग के लिए जालन्धर में स्पीड फण्ड अकैडमी ज्वाइन कर लिया ,  उस ने डिस्कस थ्रो में ३ गोल्ड और 2 सिल्वर मैडल जीते थे , जिस के कारण विकी को पूरे मुक्तसर में हर कोई जानता था , वेह एक नेशनल लेवल का खिलाडी था ,

क्रोधी सुभाह के विकी गौंडर ने बाद में अपराध की दुनिया में कदम रखा और हाईवे पर डाका डालने लगा , उस की एस अपराधिक गतिविदियो  के चलते उस के परिवार ने उस से किनारा कर लिया , विकी के पिता मेहर सिंह का कहना है के जब विकी अपराधी बन गिया तो हम ने उस से किनारा कर लिया ,
जनवरी 2015 में गैंगस्टर सुखा काह्ल्वा के कतल के बाद विकी गौंडर सुखियो में आ गिया दिसम्बर 2015 में तरनतारन पुलिस ने उसे सुखा के कतल में शामल होने की वजह से उसे गिरफ्तार कर लिया , गिरफ्तारी के बाद विकी गौंडर को रोपड़ जेल में रखा गिया था मगर वहां एक लड़ाई के बाद उसे नाभा जेल में शिफ्ट कर दिया गिया , 30 अप्रैल को गैंगस्टर जसविन्द्र सिंह रॉकी के कतल के बाद विकी ने जेल से फेसबुक पर एक पोस्ट डाल कर ख़ुशी जाहर की , पुलिस ने बताया था के पंजाब में उस पर डकेती और कतल जैसे 10 से 12 मामले दर्ज हैं और हरयाणा में वी इतने ही मामले दर्ज थे ,

27 नवम्बर 2016 को 10 लोग नाभा जेल पर हमला करके वहां से 6 लोगो को छुड़ा कर ले गए जिस में विकी गौंडर , हरविंदर सिंह , मिंटू , कश्मीर सिंह , गुरप्रीत सेरों ,नीतू दिओल को जेल से भगाने में सफल रहे थे.


उस के कुछ समय बाद भटिंडा में विकी के साथीओ की एक पुलिस मुकाबले में मौत हो गई थी , जो के एक फोर्चुनेर गाडी को छीन कर भागने की कोशिश कर रहे थे ,
जिस के बाद पंजाब पुलिस उस को लगातार खोज रही थी , जिस के चलते 26 जनवरी 2018 को मुक्तसर के पुन्जावा गांव के पास पुलिस ने विकी गौंडर को पुलिस मुकाबले में मार दिया, और विकी के साथ उस का साथी प्रेम लाहोरिया को वी पुलिस ने मुकाबले में मार दिया , 

No comments:

Post a Comment