Why Apple i Phones are so expensive or coustly in india (hindi)

Share:

Why Apple i Phones are so expensive or costly in India (Hindi) 

दोस्तो हालहि में apple ने अपना फ़ोन I Phone X लांच किया था। जिस की कीमती भारतीय बाजार के हिसाब से लगभग 90 हज़ार के करीब थी। इस से पहले आने वाले i phones की कीमत भी दूसरे फ़ोन्स के हिसाब से बहुत ज्यादा थी। तो इन को देखते हुए आप सभ के मन मे भी यह ख्याल आया होगा के आखिर apple के फ़ोन्स में ऐसा क्या होता है जिस से इन की कीमत इतनी ज्यादा हो जाती है।
आज हम आप को इन सवालों के जवाब देने वाले हैं।
why i phone apple so expensive or coustly
i phone 7

दोस्तो आप जान कर हैरान हो जाएंगे के i Phones का लोगो मे इतना ज्यादा क्रेज़  है के चीन में एक शख्श ने आई फ़ोन टेन खरीदने के लिए अपनी किडनी वेच दी । इस से पहले एक खबर अमेरिका से आई थी के अमेरिका में एक शख़्स ने आई फ़ोन 6 लेने के लिए अपना घर वेच दिया था।


तो यह तो हो गई apple के क्रेज़ की बात अब हम आप को बताते हैं के एप्पल के प्रोडक्ट इतने महँगे क्यों होते हैं। असल मे इस के पीछे कोई एक कारण नही है , कई ऐसे कारण हैं जिन के चलते इन प्रोडक्ट की कीमत काफी ज्यादा हो जाती है।

Research and Development :

इस कंपनी के समान का इतना महँगा होने के पीछे सब से बड़ा कारण Research and development है। apple हमेशा ही टेक्नोलॉजी की दुनिया मे कुछ नया करने की वजह से जानी जाती है। अगर हम इन के फ़ोन्स में देखे तो सब से पहले Fingerprint sensor , उस के बाद Dual lens cemara और अब Face id sensor इन सब की खोज सब से पहले एप्पल ने ही कि थी। इस के बाद दूसरी कंपनिया ने एप्पल को कॉपी किया।

इस लिए एप्पल अपना बहुत ज्यादा पैसा research के ऊपर खर्च करता है। जब एप्पल ने Dual lens केमरा तयार किया था तो 800 इंजीनियर की टीम इस पर काम कर रही थी।



Processor :

इस कंपनी के प्रोडक्ट का सबसे महंगा होने का दूसरा बड़ा कारण इसका प्रोसेसर है एप्पल अपने iPhone और टैबलेट में अपना खुद का प्रोसेसर देता है वहीं दूसरी तरफ Samsung और Nokia जैसी बड़ी कंपनियां किसी थर्ड पार्टी जैसे Snapdrogan  जा  Helio का प्रोसेसर  इस्तेमाल करती है । जिन के मुकाबले एप्पल का apple A बहुत ज्यादा Powerful होता है।

Retina Display :

Apple के फोन में कंपनी के द्वारा रेटिना डिस्प्ले दिया जाता है ।रेटिना डिस्प्ले एक बहुत ही हाई क्वालिटी का डिस्प्ले है जिसमें दूसरे डिस्प्ले के मुकाबले ज्यादा चमक होती है और इसमें सूरज की रोशनी में भी आसानी से देखा जा सकता है। असल में रेटिना डिस्प्ले में बहुत छोटे-छोटे पिक्सेल होते हैं जिससे इसमें देखना आसान होता है।


Customer satisfaction :

किसी भी कम्पनी के कामज़ाब होने के लिए यह बहुत जरूरी है के उस के Customer उस कम्पनी से संतुष्ट हो। एप्पल भी इसी स्ट्रैटजी पर काम करता है। जब भी किसी ग्राहक को कोई प्रॉब्लम आती है तो कम्पनी उस को जल्द से जल्द solve करती है और ग्राहक को अच्छा response देती है। इस के लिए कम्पनी को ज्यादा Employees की जरूरत रहती है।
जिससे कंपनी को अपने प्रोडक्ट ज्यादा कीमत पर वेचने पड़ते हैं।

Why i phone so costly in India:

भारत में Apple के प्रोडक्ट इसलिए ज्यादा महंगे होते हैं क्योंकि भारत में Custom duty, Central govt tex इसके अलावा State Govt tex लगते हैं। दूसरा भारतीय रुपया डॉलर के मुकाबले काफी कमजोर है जिसके चलते आई फोन की कीमत भारत में बहुत ज्यादा होती है।

                History of Nokia


हमें उम्मीद है दोस्तों आपको हमारा यह आर्टिकल अच्छा लगा होगा आप एप्पल का कौन सा प्रोडक्ट इस्तेमाल करती हैं हमें कमेंट करके जरूर बताएं अपना कीमती समय देने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

No comments