What is Z Plus Z, X and Y Security in Hindi

Share:
What is Z Plus  Z, X and Y Security in Hindi : आपने अक्सर TV पर यह सुना होगा कि किसी भी VVIP और VIP को Z या फिर Z Plus सिक्योरिटी दे दी गई है या किसी से यह सिक्योरटी छीन लई गई है। सिर्फ Z Plus ही नही X, Y और Z सिक्योरटी के बारे में भी सुना होगा।इन सब के इलावा SPG नाम की एक सुरक्षा श्रेणी और होती है जो सिर्फ देश के प्रधान मंत्री और उन के परिवार की सुरक्षा के लिए होती है। 
 आज हम इसी विषय पर बात करने वाले हैं , हम आप को बताएंगे के किस VVIP और VIP को किस श्रेणी की सिक्योरटी दी जाती है । इन श्रेणियो में कितने जवान होते हैं और इन का साल का खर्च कितना होता है।
What is Z Plus  Z, X and Y Security in Hindi


X, Y, Z, and Z Plus Security Holder:

यह सिक्योरिटी  उन लोगों को दी जाती है जिनकी जान को लगातार खतरा बना रहता है और जिनकी जान चले जाने से देश में अमन कानून की स्थिति बिगड़ सकती है और दंगा फसाद हो सकता इनमें से कुछ लोगों सूची इस प्रकार है।

The President

The Prime Minister

Chief Ministers

Union Ministers

MPs

MLAs

bureaucrats

Former Bureaucrats

Judges

Former Judges

Businessmans

Cricketers

Film Stars

Saints 


What is Z Plus  Z, X and Y Security in Hindi

जब भी किसी VIP को लगता है कि उसकी जान को खतरा है और उसे सिक्योरिटी लेनी है तो वह अपने पास के किसी पुलिस स्टेशन में एक एप्लीकेशन देता है। 
जिसको पुलिस स्टेशन के अधिकारी आगे इंटेलिजेंस ब्यूरो को सौंप देते हैं उसके बाद इंटेलिजेंस एजेंसी उस व्यक्ति की पूरी पड़ताल करती हैं कि इस व्यक्ति की जान को वाक्य में ही खतरा है अगर है तू किन लोगों से है। 

जिसके बाद इंटेलिजेंस एजेंसी की कमेटी उस राज्य के Home Secretary और Director General को उस व्यक्ति की सिक्योरिटी के लिए सिफारिश करती है. VIP को एक बार अपनी एप्लीकेशन को यूनियन होम मिनिस्टर से अप्रूवल करवाना पड़ता है जिसके बाद उसे सिक्योरिटी दी जाती है और वह सिक्योरिटी भी इंटेलिजेंस एजेंसी  तय करती है कि उस व्यक्ति को किस श्रेणी की सिक्योरिटी दी जानी चाहिए।

What is SPG Security? 


Special Protection Group इसका गठन 1988 को प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद किया गया। यह सिक्योरिटी ग्रुप प्रधानमंत्री और उनके परिवार की सुरक्षा के लिए होता है इसमें NSG, CRPF और ITBP के जवान होते हैं।

What is X Security ?

इस सिक्योरिटी श्रेणी में सिर्फ एक Armad Force का जवान और एक पुलिस का जवान होता है इसमें कमांडो का कोई जवान नहीं होता हमारे देश में मंत्रिमंडल के सभी नेताओं को अपना पद संभालते ही यह सिक्योरिटी मिल जाती है।
 इसके अलावा अगर किसी दूसरे व्यक्ति को मुझे सिक्योरिटी चाहिए तो उसे हमारे देश के इंटेलिजेंस ब्यूरो से अपने एप्लीकेशन को अप्रूव करवाना पड़ता है।

What is Y Security ?

अब बात करते हैं Y  सिक्योरिटी के बारे में इस सिक्योरिटी में 11 लोग होते हैं। इसमें दो कमांडो के ऑफिसर दो सिक्योरिटी ऑफिसर और इसके अलावा ITBP और CRPF पुलिस के जवान होते हैं।

What is Z Security ?

इस सिक्योरिटी ग्रुप में कुल 22 लोग होते हैं जिनमें से चार या पांच Commando के ऑफिसर होते हैं इनके अलावा बाकी NSG, ITBP, CRPF के पुलिस के जवान होते हैं इनके अलावा इनको एक एस्कॉर्ट कार भी मुहिया करवाई जाती है।
इन जवानों के पास एके-47 राइफल होती है।

What is Z Plus Security ?

Z Plus Security में  टोटल 36 लोगों का सुरक्षा घेरा होता है जिसमें से 10 कमांडो और दूसरे ITBP CRPF और पुलिस के सबसे बेहतरीन काम करने वाले ऑफिसर होते हैं।
 इन के पास MP 5 Submachine Gun होती है जो देखते ही देखते दुश्मन की धज्जियां उड़ा देती है।

 इनके पास जो भी दूसरा समान होता है सब मे  GPS लगा होता है त जो मुश्किल के समय इन से सम्पर्क हो सके।
 इसके अलावा के अलावा इसमें शामिल किए जाने वाले सभी जवान मार्शल आर्ट में भी Expert होते हैं।
भारत में लगभग 17 लोगों के पास जेड प्लस सिक्योरिटी है।



How Much Money Spent per Month on these Security?
इन सुरक्षा श्रेणिओ पर हर महीने कितना खर्च आता है ?


इनमें से सबसे ज्यादा खर्च जेड प्लस सिक्योरिटी पर होता है जेड प्लस सिक्योरिटी का 1 महीने का खर्चा लगभग 25 लाख  रुपए है।

Z Security का एक महीने का खर्च लगपग 20 लाख है।

Y Security पर हर महीने 10 लाख और X  सिक्योरिटी पर  7 लाख रुपए खर्च आते हैं।

दोस्तों हमें उम्मीद है कि आप को हमारे देश में VIP लोगों को दी जाने वाली सभी सुरक्षा श्रेणियां के बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी अगर आप आगे से ऐसे ही आर्टिकल पढ़ना चाहते हैं तो हमारे फेसबुक पेज को जरूर लाइक करें हम जब भी कोई नई पोस्ट अपलोड करते हैं तो उसका लिंक आप को वहां मिल जाएगा।

No comments