ISIS क्या है इस के लड़ाके क्या चाहते है (History of ISIS in hindi)

      ISIS क्या है इस के लड़ाके क्या चाहते है (History of ISIS in hindi)

दोस्तों आप सब ने isis के बारे में सुना होगा उन की विडियो इन्टरनेट पे काफी विअरल होती है। जिस में वोह लोगो को बहुत बेरहमी से मारते दिखाए गए है, तो चलिए आज हम आप को isis के बारे में बताउगा के यह कौन है और यह क्या चाहते है ।

 History of ISIS :जब नाटो आर्मी इराक में सुदाम हुसैन के खिलाफ अपना अभयानं चला रही थी तभी 2006 में इराक में एक ग्रुप बना जिस का नाम अल्कैदा इराक था और इस आंतकवादी ग्रुप का नेता अब्भु बक्कर अल बगदादी था । 2009 में बगदादी सीरिया आया उस समय सीरिया में ग्रेह युद्ध चल  रहा था । उस समय यह ग्रुप इतनी पॉवर में नहीं था मगर 2011 में नाटो सेना ने सुदाम हुसैन को फांसी दे दी और इराक आजाद हो गया मगर इस लड़ाई में इराक बिलकुल ख़तम हो चूका था , अमेरिका ने अपनी सेना वापस बुला ली सेना के वापस जाते ही यह ग्रुप पॉवर में आ गया । बगदादी ने एस का नाम अब ISI रख लिया यानि इस्लामिक स्टेट ऑफ़ इराक , बाद में बगदादी ने इस का नाम ISIS यानि इस्लामिक स्टेट इराक एंड सीरिया क्र दिया। 2013 को सीरिया की अल्कैदा ग्रुप ने isis को समर्थन दे दिया जिस से यह ग्रुप बना और पॉवर में आया।



हथिआर और ट्रेनिग: जून 2013 को सीरिया की आर्मी ने यह ऐलान कर दिया के उस के पास हथ्यार नहीं है और वोह बागीओ से एक महीने में हार जाएगे , इस ऐलान के एक हफ्ते बाद अमेरिका , इजराइल , जॉर्डन , तुर्की , क़तर देशों ने सीरिया को हथ्यार पैसा और ट्रेनिंग देनी शुरू कर दी । इस से ही isis के दिन बदल गे वोह हथ्यार  एक साल में isis के पास चले गे isis के कई लड़ाके यहाँ से ट्रेनिंग वी ले चुके थे , और कुछ आर्मी के लोग वी isis में शामल हो गे । अब isis के सभी आधुनिक हथ्यार इकठा हो गे थे और US की एक रिपोर्ट के मुतावक isis में 20000 से 30000 लड़ाके भारती हो चुक्के थे ।

जून 2014 को isis ने पहली वर अपना एक विडियो जारी किआ जिस में उनो ने क्रिश्चिन लोगो को मारा और दुनिया का ध्यान अपनी तरफ खीचने के लिया मौत के नए नए तरीके इस्तमाल किए , और धीरे धीरे सीरिया और इराक के इलाको पर कब्ज़े करने शुरू कर दिए।

History of ISIS in hindi



आमदनी: आप लोग सोच रहे होगे के isis एक तरफ इराक सीरिया आर्मी से लड़ रहा है दूसरी तरफ नाटो फ़ौज से तो उन के पास इंतना पैसा कहा से आता है , हम आप को 2014 के कुछ आंकड़े दिखाते है , isis की एक दिन की कमाए 10 करोड़ थी।
isis के पास सीरिया के 8 बड़े उर्जा प्लांट थे ।

isis एक दिन में 34 से 40 हज़ार बैरल कचा तेल वेचता था ।
isis के पास 10 बड़े तेल की खूहे थे जिस की तस्करी वोह इराक , जोर्डन , तुर्की के ब्लैक मार्किट में करता था ।
इस के इलावा लूट , फिरोती से वी उस को बहुत अमदन होती थी ।


2014 में isis ने 600 मिलियन डोलर की कमाई की , जिस में से 500 मिलियन उनो ने बेंको से लुटे थे , एक रिपोर्ट के मुताबक isis ने साल 2014 में 100 मिलियन डोलर का कचा तेल वेचा ,  20 मिलियन लोगो को बंधिक बना के , और कुछ खाड़ी देश और वह के अमीर शेख वी इन की मदद करते थे

 , isis अपने हरेक लड़ाके को महीने का 500 डोलर तनखाह  वी देता था और विदेशी लड़को के लिए यह 800 डालर थी ।
दोस्तों हम आप को बता दे के इस लड़ाई में अमेरिका अबतक 3 बिलियन डोलर खर्च कर चूका है , हर रोज अमेरिका 9 मिलियन डोलर खर्च कर रहा है । 

यह क्या चाहते है : दोस्तों यहाँ इराक में काफी इलाका शिया मुसलमानों का है मगर वह सरकार सुन्नी चला रहे है। वह राष्तेर्पति बसर अल असद की सर्कार है जिस को अमेरिका मदद करता है जिस से वह के लोग खुश नहीं है इसी तरेह सीरिया में लोगो के धरम के उल्ट सर्कार है जिस से उस में हर चीज़ को लेकर काफी मत्त्भेद है जिस से यह उन की आज़ादी की लड़ाई बन गई है ।
तो आपको हमारा आर्टिकल कैसा लगा हमे कमेंट करके जरुर बताए धन्यवाद!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *